OS का फुल फार्म क्या होता है इन हिंदी में? Operating system का मतलब क्या होता है? OS full form in Hindi?

OS full form in Computer? OS का फुल फार्म क्या होता है और Operating system क्या है? 

Hello दोस्तों यहां पर हम जानने वाले हैं की आखिर यह OS full form क्या होता है और इसके साथ ही आप सभी को prdptech.com वेबसाइट पर स्वागत है| 


आज के समय में हर को OS full form in computer के बारे में पता होना एक तरह से बहुत ही जरुरी है क्योंकि अब है digital दुनिया और यह digital दुनिया में OS का उपयोग हर एक field में होता है| 


यहां पर हम OS full form, OS क्या है, operating system क्या है और इसके अलावा भी OS से जुड़े बहुत सारे बेसिक जानकारी को दिया गया है जिसके बारे में हर कोई व्यक्ति को पता होना चाहिए|



आज के समय में यानी digital क्षेत्र में यह OS का इस्तेमाल किया जाता है जिससे कारण कोई भी व्यक्ति OS का फुल फार्म के बारे में जानना चाहता है| 

What is the full form of os in computer. Os full form in computer. Mac os full form. Os ka full form name. Os full form name. Os full name. Os full form in Hindi. Os full form in mobile. Os ki full form.
OS full form in computer


दोस्तों आगर आप वाकई में OS full form in computer के बारे में जानना चाहते हो तो ऐसे में यह article आपके लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक हो सकता है क्योंकि की यहां पर OS से जुड़े हर एक बेसिक जानकारी दिए गए है जिसको काफी सारे लोग जानना चाहते हैं| 



OS का फुल फार्म क्या होता है इन हिंदी में? 

यहां पर हम जानने वाले हैं की आखिर यह OS का फुल फार्म क्या होता है लेकिन उससे पहले ही बता दें की OS का full form name एक नहीं बल्कि बहुत सारे है| 



अलग अलग category के हिसाब से OS का फुल फार्म भी अलग अलग होता है, तो यहां पर हम OS full form in computer के बारे में discuss करने वाले हैं और हां नीचे आप देख सकते हो OS का सभी others full form lists दिया गया है| 


तो चलिए जान लेते हैं computer category के हिसाब से OS full name! 

Os full form in computer. Mac os full form. Os ka full form name. Os full form name. Os full name. Os full form in Hindi. Os full form in mobile. Os ki full form.
OS full form in computer!


OS full form in Computer?

  •    O :-   Operating 
  •    S :-   System 
  • Computer category में OS का फुल फार्म होता है :- "Operating System". 
  • Operating system Hindi full form :-  "ऑपरेटिंग सिस्टम"
  • PC full form in Hindi?
  • Wifi full form in Hindi?

Operating system meaning in Hindi? 

आगर हम operating system के बारे में बिलकुल सभी जानकारी को अच्छे से समझना चाहते हैं तो हमको operating system का हिंदी meaning के बारे में भी पता होना चाहिए| 

Operating system meaning in Hindi. Operating system ka kam kya hota hai. Os meaning in Hindi. Operating system ka matlab kya hota hai. Os kya hai. Types of operating system in Hindi. Os full form in computer. Mac os full form. Os ka full form name. Os full form name. Os full name. Os full form in Hindi. Os full form in mobile. Os ki full form.Os full form in computer. Mac os full form. Os ka full form name. Os full form name. Os full name. Os full form in Hindi. Os full form in mobile. Os ki full form.
Operating system meaning in Hindi!

  • Operating system meaning in Hindi :-"प्रचालन तंत्र"  


Operating system क्या होता है? What is operating system in hindi? 

दोस्तों Operating system को ही short form में 'OS' कहा जाता है और यह एक ऐसा part है जोकि की हर एक computer में लगा हुआ रहता है| Operating system के बिना एक computer नहीं चलता है, यानी की एक computer में operating system होना ज़रूरी होता है| 



हम सभी लोगों ने Android, Windows, Mac, Linux ये सभी नाम तो सुना ही है लेकिन फिर भी बहुत सारे भाइयों को इसके बारे में कोई जानकारी ही नहीं है, तो यहां पर हम बता दें की यह एक एक operating system ही है| 



एक operating system अन्य computer programs को संचालन करने में मदद करता है और यह operating system उपयोक्ता तथा computer system के बीच में मध्यस्थ का कार्य को करता है| हम computer में जो कोई भी data input करते हैं यानी की computer को हम जो भी निर्देशो देते हैं उसे computer system को समझने में मदद करता है यह operating system. 



दोस्तों यह operating system के माध्यम से computer का अन्य software program तथा hardware का संचालन किया जाता है| 



Operating system का मतलब क्या होता है? 

दोस्तों operating system के बिना कोई भी computer एक प्रकार से निर्जीव वस्तु है क्योंकि यह operating system ही निर्जीव hardware को काम करने लायक बनाता है और हां इसके साथ साथ hardware के उपर अन्य सभी software programs को भी काम करने लायक सुविधा और मदद प्रदान करता है| 



दोस्तों हम सभी को पता चल चुका है की आखिर यह Operating system meaning क्या होता है लेकिन हमारे अन्दर यहां एक बहुत बड़ा सवाल खडा हो जाता है और वो यह है की एक computer के लिए operating system की आवश्यक्ता क्यों पडती है| 


तो दोस्तों चलिए जान लेते हैं की आखिर यह operating system क्यों आवश्यक पडती है! 



दोस्तों एक कम्प्यूटर का नियंत्रण एवं संचालन करने के लिए यह operating system की आवश्यक होती है, Operating system को हम master program भी बोल सकते हैं क्योंकि computer का सभी hardware और software को operating system ही संचालन करता है| 



Operating system के जरिए ही computers का प्रबंधन किया जाता है और यह operating system किसी भी computer users को बहुत ही आसानी से कार्य करने की योग्यता प्रदान करती है| 



Operating system कहां कहां पर इस्तेमाल होता है? 

दोस्तों आपको शायद लगता होगा की operating system सिर्फ desktop में होता है लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है हम जो कोई भी मोबाइल अनुप्रयोग उपयोग करते हैं उसके अन्दर भी OS (operating system) होता| 



हर एक mobile phone, tablet, laptop, computer इस तरह का device में operating system उपयोग होता है और आपको already बता दिया गया है की operating system के बिना कोई भी device काम नहीं करता है| लेकिन हां फर्क यह होता है की desktop के लिए अलग सा operating system उपयोग किया जाता है और mobile phone के लिए अलग सा operating system उपयोग होता है, यानी की operating system भी बहुत प्रकार का होता है| 


  • दोस्तों smart phone के लिए जो operating system उपयोग होता है उसका नाम है "Android". 
  • हम अपने daily life में android शब्द का उपयोग करना बहुत ही आम बात है, लेकिन जी हां यह एक operating system का नाम है| 


हम कोई भी game खेलते हैं, Ms word, photo editing, video player, audio player कुछ भी software को उपयोग करते हैं तो वो operating system के जरिए संभव हो पाता है| 



यहां पर आपको यह पता होना ज़रूरी है की आखिर operating system कितने प्रकार का होता है क्योंकि हर एक device में अलग अलग सा operating system उपयोग होता है| 



Computer on होने से लेकर off होने तक हम जो कोई भी software में काम करते हैं वो सारा काम operating system के जरिए ही होता है| 



Operating system के नाम क्या क्या होता है? 

आज के digital दुनिया में operating system का बहुत ही बडा हाथ है और यह हर एक desktop computer या smart phone में उपयोग होता है| 



हम सभी को अच्छे से पता है की एक व्यक्ति को जिन्दा रहने के लिए उसके पास एक दिल होना ज़रूरी होता है ठीक उसी प्रकार से computer का hardware या software को संचालन करने के लिए operating system होना ज़रूरी होता है और operating system के बिना computer नहीं चल सकता है| 



यहां पर आप देख सकते हो की operating system का नाम क्या क्या है और हां वो सभी operate system को अलग अलग कपंनी के द्वारा बनाया गया है| अलग अलग operating system अपने कपंनी के हिसाब से काम करता है, आप यह समझ सकते हो की operating system के प्रकार भी अलग अलग होता है| 



Types of operating system in hindi? Operating system के प्रकार?

  •    Microsoft Windows
  •    Google’s Android OS
  •    Apple iOS
  •    Apple macOS
  •    Linux Operating System


दोस्तों यहां पर ऐसे बहुत ही बडे बडे operating system का नाम को बताया गया है लेकिन इसके अलावा भी ओर कई सारे operating system मौजूद है, पर आज के समय में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला operating system का नाम ये सब है और ये सब एक एक बहुत ही powerfull operating system है| 



दोस्तों अब बारी आ चुका है जानने का की आखिर यह operating system कैसे काम करता है, तो चलिए जानते हैं| 



Operating system का काम क्या होता है? 

दोस्तों किसी भी operating system users के हिसाब से काम करता है, हम अपने मोबाइल फोन में जो भी software को open करते हैं तो उस software को run करने के लिए operating system का काम होता है| 



हम सभी को पता है desktop हो या smart phone हो उसमें कई सारे software होता है और उन software को operating system ही run (संचालन) करवाता है, लेकिन ये users के उपर depend करता है की वो कौन सा software को open करता है| 



Operating system का काम होता है किसी भी software को running करवाना लेकिन इससे पहले जब आप पहली बार computer को on करोगे तो operating system सबसे पहले computer का main memory (RAM) को load करता है और इसके बाद users के हिसाब से काम करता है| 



Operating system कैसे काम करता है?

दोस्तों operating system के बहुत सारे काम होता है लेकिन यहां पर ऐसे कुछ operating system का काम के बारे में बताया गया है जिससे आप अन्दाजा लगा सकते हो की आखिर operating system का काम क्या होता है और operating system कैसे काम करता है! 


  • Processor management (Process Scheduling)
  • Memory Management
  • Device Management
  • Security 
  • File Management
  • Error बताना 
  • System Performance देखना
  • Software और User के बिच में तालमेल बनाना



1 :- Processor Management (operating system कैसे काम करता है?) 

दोस्तों जब multi programming environment की बात आती है तो operating system पुरी तरह से decide करता है की आखिर किस process को processor मिलेगा और किस process को नहीं मिलेगा, आगर एक process को processor मिलेगा तो वो भी कितने समय तक मिलेगा उसके बारे में भी यह operating system decide करता है| 



काफी सारे भाइयों process scheduling के बारे में सुना ही होगा तो यहां पर बता दें की इस process को ही process scheduling कहा जाता है| 


  • दोस्तों operating system हमेशा यह देखता है की आखिर processor इसी वक्त खाली है या नहीं, आगर खाली नहीं है तो क्या काम कर रहा है उसे देखता है| 
  • Processor एक काम को खत्म कर दिया या फिर उसे कितना समय में खतम करेगा उसे एक सेही अनुमान लगाता है| 
  • आप बिलकुल से simply अपने device के task manager में जाके देख सकते हो की आखिर कितने काम चल रहे हैं और कितने नहीं और हां इस काम को जो program काम करवाता है उसका नाम "Traffic Controller" है| 
  • दोस्तों processor को कब किस काम करना है इसके बारे में CPU allocate करता है| मान के processor एक काम को पुरा कर देता है तो उसे दूसरे काम में लगाता है और मान के चलो कोई काम नहीं होने पर processor को free छोड देता है| 


2 :-  Memory management (operating system कैसे काम करता है?) 

दोस्तों memory management का मतलब यह है की primary memory और secondary memory को manage करना| 



Main Memory में बहुत ही बडा array के bytes होते हैं, यानी की main memory में ऐसे बहुत सी खाते होते हैं और उस खाते में हम कुछ data store कर सकते हैं और जहां पर एक खाचें का address भी होता है| 



दोस्तों यहां पर बता दें की main memory को CPU direct इस्तेमाल करता है और यह main memory सबसे ज्यादा तेज चलने वाला memory होता हैट और हां CPU जितने भी program को चलाता है वो सब के सब main memory में ही होता है| Main memory यानी की RAM, दोस्तों इसलिए जब कोई व्यक्ति smart या laptop खरिदता है तो उस particular device में RAM storage कितना GB है उसे जरूर ध्यान में रखता है|   


  • Operating system का काम होता है Main memory  के कौन सा हिसा इस्तेमाल होने वाला है और कौन सा नहीं, कितना इस्तेमाल होगा और कितना नहीं|
  • जब भी processor को memory की आवश्यक होती है तो Operating system (OS) memory दे देता है| 
  • जब processor अपना काम खतम करता है तो operating system वापस फिर से memory ले लेता है| 


3 :- Device management! (operating system कैसे काम करता है?) 

दोस्तों मुझे उम्मीद है की शायद आपको पहले से ही पता होगा की आपके computer में driver का इस्तेमाल होता है और हां बिलकुल हर एक computer में driver का उपयोग होता ही है, जैसे की Bluetooth Driver, Wifi Driver, Sound Driver, Graphics Driver. दोस्तों ये सब एक एक driver है जोकि अलग अलग input और output device को चलाने में मदद करता है लेकिन यहां पर हम बात दें की इन सभी driver को operating system management करता है| 


  • दोस्तों computer में एक program होता है जिसका नाम I/O Controller है, इसके जरिए operating system सभी computer devices को track करता है और task करवाता है| 
  • दोस्तों device allocate का काम भी operating system ही करता है, जहां पर अलग अलग process को devices चाहिए होता है कुथ task complete करने के लिए| एक example के साथ समझलेते हैं की एक process को कुछ task करना है जैसे की print निकाल ना, Song सुनना, तो ये दोनों task printer और speaker output device के जरिए होगा, तो यह दोनों device को कब process देना है यह काम operating system करता है| 
  • जब भी process का काम खतम हो जाता है तो operating system फिर से वापस device deallocate करता है| 
  • यहां पर उदाहरण के साथ समझते हैं जब हम print करते हैं तो operating system printer device को process देता है और allocate करता है और जब printing काम खत्म हो जाता है तो operating system वापस printing device को process देना बन्द कर देता है और deallocate करता है| 


4 :- Security (operating system कैसे काम करता है?) 

हमको बिलकुल अच्छे से पता है की जब हम computer को on करते हैं तो हमको वहां पर user name और password पूछता है, यानी की operating system कोई भी computer को unauthenticated access से रोकता है| Computer में अपना users और password दिए बिना नहीं चला सकते हैं, इससे आपका computer सुरक्षित रहता है और ऐसे कुछ programs होता है जिसे हम बिना password के नहीं चला सकते हैं, ये सभी security काम भी operating system के द्वारा ही होता है| 



5 :- File management (operating system कैसे काम करता है?) 

दोस्तों हमको बिलकुल अच्छे से पता है की एक ही file के बहुत सारे directories होता है| हम जब कोई भी data को ढूंढे तो आसानी से मिल जाए इसी लिए हम एक ही file में एक category का सभी directories को store करके रखते हैं और हां यहां पर भी operating system का काम होता है| 



कोई भी information, location और status को संगठित करने में भी operating system का काम होता है| 


किसको कोनसा Resource मिलेगा और किसको कौन सा Resource नहीं मिलेगा ये सब को operating system पता लगाता है| 


6 :- Error बताना (operating system कैसे काम करता है?) 

आगर आप computer इस्तेमाल करते हो तो आपको जरूर पता होगा की अपने computer में कोई भी error आता है तो हमको notifications के जरिए बता दिया जाता है जिससे की हम उस error को solve कर लेते हैं| 



दोस्तों यहां पर भी operating system काम होता है की अपने system में कोई error आए तो उसे detect करना और उसे recover करना| 



7 :- System performance को देखना (operating system कैसे काम करता है?) 

दोस्तों यह operating system कम्प्यूटर के performance को देखता है और system को improve करने के कोशिस करता है| Operating system कोई भी एक service देने में कितना समय लगाता है इसे record करके रखता है| 



8 :- Software और users के बिच में तालमेल create करना (operating system कैसे काम करता है?) 

Compiler, Interpreter और Assembler को operating system ही task assing करता है और कई सारे अलग अलग software को users के साथ जोडने मदद करता है, जिससे की कोई भी users किसी भी software को अच्छे से उपयोग कर सकता है| 

यह operating system कोई भी user और system के बीच में communication प्रदान करता है| 

यह operating system BIOS में store होके रहता है और बाकी सब के सब applicaa को भी users friendly बनाने में मदद करता है| 



Operating system के कुछ बेसिक जानकारी? 

  • कोई भी एक operating system बहुत सारे ऐसे program के collection होता है, जोकि कई सारे दूसरे program को चलाने में मदद करता है| 
  • Operating system ऐसे कई सारे input और output devices को control करता है| 
  • Operating system की responsibility यह है की सारे Application software को run करना| 
  • Operating system के जरिए process scheduling का काम होता है, यानी की operating system कोई भी process को allocate और deallocate करता है| 
  • अपने system के अन्दर कोई भी error और खतरे आता है तो operating system हमे alert करता है| 
  • Operating system के जरिए ही एक user और computer program के बीच में अच्छा सा connection स्थापित करता है| 



दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको पता चल चुका होगा की आखिर operating system का काम क्या होता है तो अब जानते हैं की आखिर यह operating system कितने प्रकार के होते हैं! 



Types of operating system in Hindi me? Operating system के प्रकार क्या क्या होता है?

दोस्तों operating system भी बहुत प्रकार के होते हैं, आज के समय में ऐसे बहुत सारे operating system काम कर रहा है| 



यहां पर ऐसे कुछ operating system का नाम बताया गया है जिसे आप देख सकते हो लगभग 8 operating system का नाम बताया गया है| 


  1.     Batch Operating System
  2.     Simple Batch Operating System
  3.     Multiprogramming Batch Operating System
  4.     Network Operating System
  5.     Multiprocessor Operating System
  6.     Distributed Operating System
  7.    Time-Sharing Operating System
  8.     Real-Time Operating System


1) Batch Operating System

दोस्तों पहले जमाने के operating system में ऐसे कई सारे problem था जिसे दुर करने के लिए ही batch operating system को लगाया गया था| आगर हम पहले के operating system की बात करे तो setup time बहुत ही ज्यादा लगता था लेकिन उस setup time को कम करने के लिए batch operating system लगाया गया और वहां पर jobs को process किया जाता है batches में जिसके कारण यह operating system को batches processing operating systems कहा जाता है| 



इसमें जो कोई भी similar types का jobs हो उन्हें CPU को submit कर दिया जाता है processing के लिए जिससे की वो सभी similar jobs एक साथ run होता था| 



इस operating system के जरिए jobs को batch में automatically ही execute करना और यह batch processing operating system का main function होता है| 



इस कार्य में जो सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण काम करता है वो "Batch Monitor" होता है जो की main memory (RAM) के ठीक low-end में अवस्थित होता है| 



2) Simple Batch system

यह operating system में users और computer के बीच में ऐसा कोई भी direct interaction नहीं था और यह सबसे पुराने वाले operating system है| इस operating system में users को कोई भी job या task को process करने के लिए किसी एक storage unit में लेके आना पडता था और इसके साथ साथ उसे computer operator के पास manually submit करना पडता था, जोकि बहुत ही hard काम होता है| 



दोस्तों यह simple batch operating system में बहुत सारे jobs या task को एक batch या line में computer को दिया जाता था और उसके बाद कुछ दिनों के बाद या फिर कुछ महीनो के अन्दर वो task या jobs process होती थी और एक output device में output data store हो जाता था| 



इस system को batch mode operating system के नाम से भी बोल जाता था क्योंकि ये system कई सारे jobs को batch में process करता था| 



3) Multiprogramming Batch operating system 

दोस्तों यह operating system में memory से कोई भी job को उठाया जाता है और उस job को execute किया जाता है| 



Memory में जितने भी task रहता है वो सब हमेशा disk में जितने tasks है उनसे कम ही होते हैं| आगर मान के चलो बहुत सारे jobs line में रहती है तो operating system deside करता है की कौन सा task सबसे पहले process होगा और कौन सा process बाद में होगा| 



दोस्तों time sharing system यह multiprogramming operating system का हिसा होता है| यह time sharing operating system में भी response समय काफी कम होता है लेकिन multi programming में CPU का usage बहुत ज्यादा होता है| 


Disadvantage 

  • कोई भी direct interaction नहीं था users और computer के बीच में| 
  • जो कोई भी job सबसे पहले आता है वो job पहले process होता इसके कारण से users को काफी ज्यादा समय तक इंतजार करना पडता है| 


4) Network operating system 

दोस्तों यह operating system का short form होता है "NOS" और यह network operating system उन computers को अपना सेवा प्रदान करता है जोकि कोई भी एक particular network से connected होते हैं| 



Network Operating System एक ऐसा प्रकार का software होता है जोकि multiple computers को एक साथ में communicate करने के लिए allow करता है files share करने के लिए और दूसरे hardware software devices के साथ भी| 



एक single computer usage और network usage के लिए पहले जमाने में apple operating system और Microsoft Windows को design नहीं किया गया था| लेकिन हां जैसे जैसेे दुनिया develop हुआ और computer network धीरे धीरे बढने लगा तो ये सब advance level का operating system भी develop होने लगा| 



एक network operating system मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं :- 

  1. Peer-to-peer operating system 
  2. Clint-server operating system 


Peer-to-peer operating system को प्रत्येक computer में install किया जाता है, Clint-server operating system में एक machine होता है server और दूसरे में client software already install हुआ होता है| 


i) peer-to-peer network operating system 

Network resources को share करने के लिए Peer-to-peer network operating system users को allow करता है, जोकि saved होते हैं common, accessible network location में| इस architecture में कोई भी devices को functionality के हिसाब से बिलकुल equally treat किया जाता है| 



छोटे से लेकर medium LANs में यह peer-to-peer system सबसे बढिया काम करता है और इससे भी अच्छा बात यह है की इन्हें set up करना बिलकुल सस्ता होता है| 



ii) Clint-Server network operating system 

यह system अपने users को प्रदान करता है सभी resources को access करने के लिए एक server के माध्यम से| 



इसके architecture में हर एक applications और functions को unify किया जाता है| दोस्तों यह client-server को install करना बहुत ही मुश्किल होता है, वहीं इस system में बहुत ही ज्यादा मात्रा में technical maintenance की जरुरत होता है और इसके साथ साथ इसमें काफी ज्यादा खर्चा होता है| 



यह system में network को centrally control किया जाता है और यह इस system का सबसे बड़ी advantage है, जिससे की इसमें कोई भी बदलाव बहुत ही आसानी से किया जा सकता है और वहीं इसके साथ साथ additional technology को भी incorporate किया जा सकता है| 



5) Microprocessor operating system 

दोस्तों यह microprocessor operating system में ऐसे बहुत सारे ऐसे processors एक common physical memory का उपयोग करता है| यह system में computing power बहुत ही ज्यादा तेज होता है और ये सारे के सारे processor एक operating system के under में काम करता है| 


यहां पर इस operating system के कुछ advantages दिए गए है| 


Advantages 

  • बहुत ही ज्यादा तेज होता है क्योंकि multiprocessor का उपयोग होता है| 
  • System throughput बढ जाता है जब बहुत सारे task एक साथ में process होता है, यानी की एक ही second में बहुत सारे job processor होता है| 
  • इस operating system में task को बहुत सारे sub task में divide कर देता है और हर एक sub task को अलग अलग processor को दिया जाता है जिसके वजह से कोई भी task बहुत ही कम समय के अन्दर complete हो जाता है| 


6) Distributed operating system 

यह operating system का इस्तेमाल करने के पीछे एक ही मेन मक़सद होता है और ये दुनिया के पास एक प्रकार का बहुत ही ज्यादा powerful operating system है और इसका microprocessor काफी हद तक सस्ते हो चुका है और इसके साथ साथ communication technology में भी काफी ज्यादा सुधार लाया है|


यह operating system दुर दुर वाले computer को network के जरिए रोक के रख लेता है| 


Advantages

  • इसमें resources बिलकुल भी खाली नहीं रहता है क्योंकि इसके जरिए हम दुर दुर के resources को भी इस्तेमाल कर सकते हैं|
  • इसमें load distribute हो जाता है जिससे कारण Host machine के उपर load कम होता है| 
  • इस operating system में processing बहुत ही ज्यादा fast होता है| 


7) Time Sharing operating system 

दोस्तों यह operating system में चाहे कोई भी काम को बिलकुल अच्छे से करने के लिए operating system के माध्यम से कुछ समय दिया जाता है जिससे की हर एक काम बिलकुल सेही तरीके से पुरा हो पाता है| यह operating system में प्रत्येक users एक single system को इस्तेमाल करता है और उसे CPU को समय दिया जाता है| दोस्तों इस प्रकार के system को हम multitasking system भी बोल सकते हैं| 



इसमें बहुत सारे ऐसे task होता है जोकि single users से नहीं हो सकता है और ऐसे भी कुछ task होता है जोकि single user से किया जा सकता है| 



यहां पर हर एक task को complete करने के बाद operating system फिर से एक नया task को start कर देता है| 


Advantages 

  • यह operating system में हर एक task को बिलकुल अच्छे से complete करने के लिए operating system के तरफ से बराबर समय दिया जाता है| 
  • यह operating system में software की duplicasy नहीं होता है और इसे करना बिलकुल भी सहज काम नहीं है|
  • यह operating system में बहुत ही आसानी से CPU idle time को काम किया जा सकता है| 


Disadvantages 

  • यह operating system में सबसे ज्यादा तर reliability का issue देखने को मिलता है| 
  • इसमें हमें हर एक चीजों की security और integrity का ध्यान रखना पड़ता है| 
  • यह operating system में एक बहुत ही ज्यादा common problem यह है की data communication का issue देखने को मिलता है| 
  • Time sharing operating system के एक example "Unix" है| 


8) Real time operating system 

दोस्तों real time operating system एक प्रकार का सबसे बड़ा advance level का operating system है| इसमें हमें real time process देखने को मिलता है missile, railway tickets booking, satellite को connect करना ये सब काम में आगर थोडा सा भी समय लग जाता है तो सारा मेहनत पानी में फिर सकता है तो ऐसे में इस operating system बिलकुल भी idle नहीं रहता है| 



यह real time operating system दो प्रकार के होते हैं| 

  1. Hard real time operating system :- यह सबसे advance technology का operating system होता है और इस operating system में जिस भी वक्त में task को complete करने का समय दिया जाता है ठीक उसी वक्त में ही काम खत्म हो जाता है, यानी की इस operating system में task complete के लिए 1 second का भी जरा सा देरी नहीं होता है| 
  2. Soft real time operating system :-  इस operating system में एक task already running में है और उस बीच में एक नए task आ जाता है तो उस नए task सबसे पहले priority दिया जाता है| 



OS का others full form?

दोस्तों यहां पर what is OS full form in computer के बारे में पता चल चुका होगा लेकिन इसके अलावा भी OS का बहुत सारे others full form है जिसका list नीचे दिए गए है आप देख सकते हो| 


OS full form list ::- 

  •    OS :-   Old Style
  •    OS :-   Out of Stock
  •    OS :-   On Station
  •    OS :-   Ocean Surveillance 
  •    OS :-   Ordnance Survey
  •    OS :-   Overtly Similar
  •    OS :-   Over-the-Shoulder
  •    OS :-   Occupational Safety
  •    OS :-   Operation Smile
  •    OS :-   Out Station
  •    OS :-   Oceanic Society
  •    OS :-   On-orbit Station
  •    OS :-   Old Shinola
  •    OS :-   Overhead Sending
  •    OS :-   Operating Strength
  •    OS :-   Out Sized
  •    OS :-   Orbital Servicing
  •    OS :-   Operating Software
  •    OS :-   Old School
  •    OS :-   Operational Sequence
  •    OS :-   Online Services
  •    OS :-   Overall Survival
  •    OS :-   Outside Shot  
  •    OS :-   Orbiter Specification
  •    OS :-   One Street
  •    OS :-   Other Specifications
  •    OS :-   Old Skool
  •    OS :-   Open Source
  •    OS :-   One Size
  •    OS :-   Oral Surgery
  •    OS :-   Oxidative Stress
  •    OS :-   Order of Sarasvati
  •    OS :-   Open System
  •    OS :-   Osmium
  •    OS :-   Operational Suitability
  •    OS :-   On Sheet
  •    OS :-   Osteosarcoma
  •    OS :-   Other Singer
  •    OS :-   Optical fiber Singlemode
  •    OS :-   Operations Specialist
  •    OS :-   Off-street 
  •    OS :-   Optimize for Size
  •    OS :-   Optics Subsystem
  •    OS :-   On Service
  •    OS :-   Oklahoma Surgicare
  •    OS :-   Oligosaccharide
  •    OS :-   Open Server
  •    OS :-   Oxygen Saturation
  •    OS :-   Opportunity To Serve
  •    OS :-   On Sea
  •    OS :-   Outer Sensor
  •    OS :-   Operating System
  •    OS :-   Optimal Strategy
  •    OS :-   Overseas
  •    OS :-   Overlap Syndrome
  •    OS :-   Ordinary Seaman
  •    OS :-   Open Sockets
  •    OS :-   Order Srilankakandalkuliya
  •    OS :-   Organizzazioni Sindacali
  •    OS :-   Open Street
  •    OS :-   Outer Space
  •    OS :-   Organic Solution
  •    OS :-   Operations System
  •    OS :-   Organizational Support
  •    OS :-   Outstanding Student
  •    OS :-   Off Screen
  •    OS :-   O Sullivan


Conclusions ::- 
(what is the full form of os in computer? Os ka full form kya hota hai? OS full form in computer?) 


Hello दोस्तों मेरा नाम है Pradeep Minz और आप सभी को prdptech.com वेबसाइट पर स्वागत है, यहां पर OS full form in computer के बारे में जानकारी दिया गया है|



हम सभी को बिलकुल अच्छे से पता है की आज के digital दुनिया में computer का उपयोग कितना ज्यादा होता है तो हर किसी को os full form name in computer के बारे में पता होना काफी हद तक जरुरी है| 



में यहां पर हमेशा ऐसे ही नए नए topic के बारे में जानकारी share करता रहता हूँ, आगर आपको लगता है की यह जानकारी आपके दोस्तों को भी पता होनी चाहिए तो ऐसे में आप यह article को अपने दोस्तों के साथ जरूर share करें जिससे की आपके दोस्तों को भी os full form के बारे में पता चल सके| 



यहां पर os ka full form, os क्या है, os कैसे काम करता है और os कितने प्रकार का होता तो इन सभी के बारे में जानकारी दिया गया है| 



दोस्तों मुझे उम्मीद है की यहां पर दिए गए जानकारी आपको काफी पसन्द आया होगा और आपको बिलकुल अच्छे से पता चल चुका होगा की आखिर यह os full form in computer और os का मतलब क्या होता है, आगर आपके अन्दर os meaning से जुड़े ऐसा कोई भी जानकारी अधुरा रह गई है तो आप यहां पर जरूर comment कर सकते हो| 

0 comments: