Thursday, October 10, 2019

HTML क्या है? HTML full form in hindi? HTML का मतलब क्या होता है?

HTML kya hota hai? HTML full form in hindi? 



(html full form kya hai - html kya had?) 
         Hello दोस्तों आप सभी को prdptech.com website पर स्वागत है| ऐसे बहत सारे लोग हैं जिनको HTML क्या है (what is html) उसके बारे में कुछ भी जानकारि नहीं है| मेरे हिसाब से HTML क्या है उसके बारे में सभी को जानना चाहिए| दोस्तों आगर आप website के बारे में थोडा बहत जानते हैं तो आपको HTML क्या है उसके बारे में भी जानना बहत हि important है| यहां पर HTML का full form क्या है और HTML क्या है, इन दोनों topic के उपर पुरि details के साथ information share किया गया है| आगर आप HTML के बारे में अच्छे से समझना चाहते हो तो ऐसे में ये article आपके लिए बहत हि helpful है| यहां पर में HTML के बारे में कुछ basic information के बारे में जानकारि देने वाला हूँ|
HTML क्या है? HTML full form in hindi? HTML का मतलब क्या होता है?
HTML kya hai in hindi -HTML full form in hindi! 

HTML kya hai? HTML ka matlab kya hota hai? 

---------------
          दोस्तों आप सभी को अच्छे तरीके से पाता है कि अभी के समय में इन्टरनेट कितना ज्यादा लोकप्रिय है और आज कल हर कोई लोग इन्टरनेट को किसी भी हाल में इस्तेमाल करता हि है| बहत सारे लोग को ये अन्दाजा नहीं होगा कि आखिर ये computer दुनिया अपना भाषा को समझता है या नहीं| दोस्तों ये computer system (computer दुनिया) अपना Language को नहीं समझता है, computer के लिए अलग तरीके का भाषा है जिसे computer समझता है| आगर आपको इन्टरनेट दुनिया बहत पसन्द है तो सायद कभी ना कभी उन language के बारे में सुना ही होगा| ऐसे कइ प्रकार के language है जिसे computer समझता है, जैसे कि c, c++, Java, html, can etc.   ये सब एक एक computer language है और ऐसे और भी कइ सारे  language है जिसे computer समझता है| उन में से html एक language है जिसे कि computer को समझ में आता है|

HTML full form in hindi? HTML full form kya hai? 

-------------
          दोस्तों आप HTML क्या है (what is html in hindi) उसके बारे में पुरि details के साथ जानना चाहते हो तो, HTML full form क्या है उसके बारे में जानने के लिए बहत हि जरुरी है|

  •   HTML full form = Hyper Text Markup Language


      आज के समय में html language का इस्तेमाल बहत हि कम होता है, लेकिन web development के field में html coading बहत ज्यादा किया जाता है|

HTML language को कहां पर इस्तेमाल किया जाता है?

------------
      HTML language को कहां पर इस्तेमाल किया जाता है उसके बारे में बहत सारे लोग को पाता नहीं है, लेकिन जो लोग वेबसाइट (website) के बारे में थोडा बहत जानते हैं उन लोग को html क्या है और html language को कहां पर इस्तेमाल किया जाता है उसके बारे में सायद पाता होगा| यहां पर में बताया कि website के बारे में जिन लोग के पास थोडा बहत जानकारि है उनको html के बारे में पाता होगा क्यों कि, html language को वेबसाइट (website) के अन्दर इस्तेमाल किया जाता है| में आप सभी को साफ साफ बोल देना चाहता हूँ कि सभी web development के field में html language को इस्तेमाल किया जाता है, html language के बीना web development करना बहत हि मुसकिल है| लेकिन HTML language के जरिए web development करना बहत हि आसान हो जाता है, इसी लिए web development के field में html language एक बहत हि compulsory है| आगर आप web development के field में काम करना चाहते हो तो आपको html language सिखना बहत बि जरुरी है|

Web development के field में html language क्यों जरुरी है?

-----------
       दोस्तों आप सभी को पाता है कि कोई भी काम को आगर सुरु करते हैं तो उसे खत्म करना भी जरुरी होता है| आगर कोइ काम को खत्म नहीं किया जाएगा तो ऐसे में वो काम अधुरा रह (uncomplicated) रह जाएगा| ठिक उसी तरीके से html coading भी web development के field में बहत जरुरी है, HTML coading के जरिए कोइ भी website को start और end किया जाता है| HTML coading के माध्यम से वेबसाइट का development process को start और end किया जाता है और उसके लिए HTML tag का इस्तेमाल किया जाता है|

        HTML language को HTML programming language कहा जाता है, computer को support करने वाला जितना भी language है, उन सभी language को programming language कहा जाता है| इन सभी language को हम computer language भी बोल सकते हैं और programming language भी बोल सकते हैं|

HTML tags क्या है हिन्दी में?

-----------
          HTML क्या उसके बारे में आप जान गए होगें, तो चलिए यहां पर जानते हैं कि HTML tag क्या होता है|HTML tag यानी कि html keywords को एक brackate अन्दर लिखा जाता है| आपको पहले से ही बताया गया है कि html coading कि मदद से web development process को Start और End किया जाता है, तो उस web development process को start और stop करने के लिए html tag का हि इस्तेमाल किया जाता है|

  •   HTML start tag = <html>
  •   HTML end tag = </html>
  •       <html>..............</html>

Comment tag ::-

     दोस्तों ऐसे बहत सारे tags होता है और उन सभी  अलग अलग tags अपने हिसाब से अलग अलग तरीके से काम करता है| html tags को हम किसी भी web browser के माध्यम से नहीं देख सकते हैं| html tag start होता है और html tag end होता है उसके बिच में comment लिखा जाता है| अपने website का design के हिसाब से comment लिखा जाता है| वहां पर comment लिखना compulsory नहीं है, आप अपने हिसाब से comment लिख सकते हो या फिर नहीं भी लिख सकते हो| HTML में comment को भी एक bracket के अन्दर लिखा जाता है|Comment को <!"........................"> इसके अन्दर लिखा जाता है| ये html comment tag को किसी भी web browser के मदद से नहीं देख सकते हैं| HTML comment tag का start tag और end tag नहीं होता है|
  •  HTML comment tag = <!".................">

Heading tag ::-     

        HTML comment tag के लिखने के बाद heading tag आता है, head tag एक बहत बि जरुरी tag होता है, जिसके माध्यम से html documents के बारे में जानकारि मिलता है| Head tag का start tag और end tag दोनों होता है|

  •   HTML का head start tag = <head>
  •   HTML का head end tag = </head>
  •        <head>..............</head>


         दोस्तों आगर आप किसी भी tag को लिखना सुरु करते हो तो उस tag को खत्म करना भी जरुरी होता है, इसी लिए किसी भी start tag लिखते हो तो end tag को भी लिखना compulsory है| आगर आप किसी भी tag को end नहीं करोगे तो वो tag web browser में support नहीं करेगा| HTML coading में head tag लिखना बहत हि जरुरी है| Head tag के अन्दर जो भी लिखते हैं वो उस web page का सबसे उपर दिखाई देता है, यानी कि उसे title कहा जाता है|
     Head tag में title को भी एक tag के माध्यम से लिखा जाता है, जिसे title tag कहा जाता है| Title tag यानी कि साफ साफ पाता चल रहा है कि उस नाम  (title) जो सबसे उपर रहता है| Title tag का भी start tag और end tag होता है|

  •   Title tag का start tag = <title>
  •   Title tag का end tag = </title>
  •       <title>................</title>

       अपना web page का title (नाम) को इस title tag के अन्दर लिखा जाता है|
     Title tag को लिखने के बाद head tag को end करना होता है| Head tag को end करने के बाद body tag लिखना होता है|Body tag का भी start tag और end tag होता है|

  •  Body start tag = <body>
  •   Body end tag = </body>
  •         <body>.................</body>


     अपने web page को आकर्षण बनाने के लिए वहां पर आप बहत तरीके का tags इस्तेमाल कर सकते हो| अपने web page का कोइ भि text को bold करने के लिए tag इस्तेमाल कर सकते हो,text colour के लिए tag इस्तेमाल करना होता है, web page में background colour देने के लिए tag इस्तेमाल करना होता है, paragraph लिखने के लिए,  ऐसे बहत सारे tag है जिसके मदद से एक web page को बहत हि आसानी में actrative बनाया जाता है|

    आगर आप कोइ भि text को bold करना चाहते हो तो वहां पर आपको bold tag का इस्तेमाल करना होता है| Bold tag का भि start tag और end tag होता है|

  •   Bold start tag = <b>
  •   Bold end tag = </b>
  •       <b>.....................</b>

     अपने web page में heading देने के लिए heading tag लिखना होता है, जैसे कि heading tag, subheading tag, miner heading tag etc.  Heading tag में h1 लिखा जाता है, subheading tag में h2 लिखा जाता है, miner heading tag में h3 लिखा जाता है| ये सभी heading tag का भी start tag और end tag होता है|

  •   heading start tag = <h1>  
  •   heading end tag = </h1>
  •        <h1>.............</h1>



  •   Subheading start tag = <h2>
  •   Subheading end tag = </h2>
  •        <h2>....................</h2>



  •   Miner heading start tag = <h3>
  •   Miner heading end tag = </h3>
  •            <h3>....................</h3>

     अपने web page के अन्दर paragraph लिखने के लिए paragraph tag लिखा जाता है| Paragraph tag का भी start tag और end tag होता है|

  •   Paragraph start tag = <p>
  •   Paragraph end tag = </p>
  •      <p>.....................</p>


        Body tag के अन्दर आप जो भी लिखना चाहते हो उसे लिखने के बाद body tag को end करना होता है| Body tag को खत्म करने के बाद html tag को भी end करना होता है|

HTML tag को कुछ इस तरीके से लिखा जाता है!

----------------
<html>
<head>
<tiyle>...................</title>
</head>
<body>
<h1>.....................</h1>
<b>.......................</b>
<p>....................</p>
<h2>.........................</h2>
</body>
</html>
   
          दोस्तों आगर आप html coading लिखना चाहते हो तो कुछ इस process के हिसाब से लिख सकते हो| अपने web page को ज्यादा से ज्यादा सुन्दर और actrative बनाने के लिए html coding के साथ साथ वहां पर CSS coading को भी include किया जाता है|

HTML programming language का history!

----------------
       यहां पर आप html क्या है, html full form क्या है, html tag क्या है और html कैसे लिखा जाता है उसके बारे में थोडा बहत जान गए| तो यहां पर ये भी जान लेते हैं कि html language का सरुवात कब हुवा था और किसने किया था|
       HTML language को सन 1980 में Geneva में बनाया गया था और उस HTML language को पहली बार Tim Berbers Lee ने खोज किया था| पहली बार जब इन्टरनेट कि सुरुवात हुवा था, उस समय में जितना भी वेबसाइट बनाया जाता था वो सब सिर्फ और सिर्फ html coading के माध्यम से बनाया जाता था| लेकिन आज के समय में ऐसे बहत सारे programming language मौजूद है जिसके जरिए एक बहत हि professional तरीके से वेबसाइट बनाया जा सकता है|


Website बनाने के लिए HTML programming language important है क्या?

---------------
          दोस्तों मुझे लगता है आपके मन में ये सवाल जरूर आरहा होगा की एक वेबसाइट बनाने के लिए html language को जानना important है या फिर नहीं| दोस्तों पहले के समय में html coading को बिना सिख के किसी भी वेबसाइट को नहीं बना सकते थे, लेकिन अभि के समय में आगर आपको html coading के बारे में जानकारि नहीं है फिर भी आप एक website बना सकते हो| पहले के समय में सिर्फ और सिर्फ programming language के जरिए coading करके website develop किया जाता था, लेकिन आज के समय में इन्टरनेट पर ऐसे बहत सारे platforms available है, जहां पर आप बहत हि आसानी के साथ एक वेबसाइट बना सकते हो|

          इन्टरनेट पर ऐसे बहत तरीके का website theme (website template) मौजूद है, जो कि अपने website को setup करने में पुरि help करता है, इसके लिए हमको html language कि जरुरत नहीं पडता है| यहां पर आप ये बिलकुल भी ना सोचें कि वेबसाइट में html language इस्तेमाल हि नहीं होता है बोल के, यहां पर भी वेबसाइट बनाने के लिए html language का इस्तेमाल होता है| लेकिन यहां पर हम वेबसाइट बनाने के लिए जो भी template (theme) को इस्तेमाल करते हैं वहां पर उस template (theme) में पहले से ही html का coading किया हुवा रहता है, जिसके लिए हमको html coading करने के लिए जरुरत नहीं पडता है|

       दोस्तों में आपको recommend करना चाहता हूँ कि आपके अन्दर html language के बारे में थोडा बहत knowledge रहना बहत हि जरुरी है| क्यों कि आपके वेबसाइट में आगर कभि भी कुछ error का problem आ जाता है तो आप उसे solve नहीं कर पाओगे, वहां पर आपको html coading कि जरुरत होने वाला है|

Conclusions ::-
(html kya hai - html full form in hindi?)

      Hello दोस्तों मेरा नाम है Pradeep Minz, आप सभी को prdptech.com website पर स्वागत है| बहत लोग को html क्या है और html full form क्या है उसके बारे में जानकारि नहीं था, इसी लिए यहां पर उन दोनों topic को cover करके अच्छे से समझाने कि कोशिस किया गया है| हर एक website developers को html full form kya hai और html kya hai उसके बारे में जानना बहत हि जरुरी था, क्यों कि web development के field में html programming language एक बहत हि important है| मुझे लगता है html क्या है और html full form क्या है उसके बारे में आपको अच्छे से पाता चल गया होगा, फिर भी आगर आपके मन में html से जुड़े कोइ भी जानकारि अधुरा रह गई है तो आप comment box के माध्यम से मुझे बता सकते हो, में अपने तरफ से जबाब देने के लिए पुरि तरह से कोशिस करुगां|
       

0 comments: